बीवी हो तो ऐसी-Biwi Ho To Aisi

 बीवी हो तो ऐसी-Biwi Ho To Aisi

20220815 213952

 बीवी हो तो ऐसी-Biwi Ho To Aisi

एक सहाबिया रज़ियल्लाहु अन्हा का अजीब वाकीआ लिखा है कि उनकी शादी हुई। अल्लाह तआला ने उनको हुस्न व जमाल भी अजीब दिया था और शादी भी एक बड़े अमीर कबीर सहाबी से हुई जिनके पास रिज्क की फराखी थी। हर तरह का ऐश व आराम के सामान थे। मियाँ-बीवी में खूब मुहब्बत थी और अच्छी तरह वक्त गुज़र रहा था। बीवी अपने खाविंद की ख़िदमत भी करती और उन्हें ख़ुश भी रखती। दोनो मियां-बीवी खुशी-खुशी जिंदगी गुजार रहे थे।

एक रात ख़ाविंद को प्यास महसूस हुई । उसने बीवी से कहा, मुझे पानी दो। बीवी उठी और पानी ले आई। जब पानी लेकर वापस आई तो खाविन्द सो चुका था। वह पानी का प्याला लेकर खड़ी रहीं हत्ताकि जब ख़ाविंद की दोबारा आँख खुली तो देखा कि बीवी पानी लेकर खड़ी है। वह बड़े ख़ुश हुए। उन्होंने उठकर पानी पिया और बीवी से कहा कि मैं इतना खुश हूँ कि तुम इतनी देर पानी का प्याला लेकर मेरे इंतिज़ार में खड़ी रहीं।

आज तुम जो कहोगी मैं तुम्हारी फरमाइश पूरी करूंगा। जब ख़ाविन्द ने यह कहा तो बीबी कहने लगी क्या आप अपनी बात में पक्के हैं कि मैं जो कहूँगी आप पूरा करेंगे? कहने लगे हाँ पूरा करके दिखाऊँगा। कहने लगी अच्छा फिर आप मुझे तलाक देकर फारिग कर दीजिए। अब जब तलाक की बात हुई तो यह सहाबी बहुत परेशान हुए कि इतनी खूबसूरत और सीरत, इतनी वफादार और खिदमतगार बीवी कह रही है कि आप मुझे तलाक दीजिए।

20220815 213952

पूछने लगे बीबी क्या तुझे मुझसे कोई तकलीफ पहुँची है? कहने लगी बिल्कुल नहीं। बीबी क्या मैंने आपकी बेकद्री की? हर्गिज़ नहीं। किसी उम्मीद को तोड़ा है, कोई बात आपकी पूरी नहीं की हो? नहीं ऐसी भी कोई बात नहीं। बीबी! क्या आप मुझसे ख़फ़ा हैं? कहने लगी हर्गिज़ नहीं। तो फिर मुझसे तलाक क्यों चाहती हो क्या आप मुझे पसंद नहीं करती हो? कहने लगी यह बात भी नहीं। पसंद भी बहुत करती हूँ, मुहब्बत भी करती हूँ इसीलिए तो ख़िदमत करती हूँ।

आपने कहा था कि मैं आपकी बात को पूरी करूंगा, लिहाज़ा आप मुझे तलाक देकर फ़ारिग कर दीजिए। वह सहाबी परेशान हैं कि कौल भी दे बैठे। कहने लगे अच्छा सुबह होगी तो हम नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की ख़िदमत में जाएंगे और आपसे जाकर फैसला करवा लैंगे। वह कहने लगी बहुत अच्छा। लिहाज़ा मियाँ-बीवी दोनों रात को सो गए। सुबह हुई तो बीवी कहने लगी चलो जल्दी चलते हैं।

लिहाज़ा दोनों मियां-बीवी घर से बाहर निकले ही थे कि ख़ाविन्द का किसी वजह से पाँव अटका और वह नीचे गिरे और उनके जिस्म से खुन निकलने लगा। बीवी ने फौरन अपना दुपट्टा फाड़ा और खाविन्द के जख्म पर पट्टी बांधी और उनके जिस्म को सहारा दिया और कहने लगी चलो घर वापस चलते हैं। मैं आपसे तलाक नहीं लेती। वह हैरान हुए कि जब तुमने तलाक का मुतालबा किया तो न मुझे उस वक्त समझ में आया और अब कहती हो कि तलाक नहीं चाहिए तो ना अब मुझे समझ में आ सका। कहने लगी घर तशरीफ ले चलें, वहां जाकर मैं आपको बता दूँगी।

20220815 213952

जब घर जाकर बैठे तो कहने लगे मुझे बताओ तो सही क्या बात है। कहने लगी आपने कुछ दिन पहले नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की हदीस सुनाई थी कि जिस बंदे से अल्लाह रब्बुलइज्जत मुहब्बत करते हैं उस बंदे के ऊपर इस तरह परेशानियाँ आती हैं जिस तरह पानी ऊँचाई से ढलान की तरफ जाया करता है। मैंने नबी अलैहिस्सलातु वस्सलाम का फरमान सुना तो मैं दिल में सोचती रही कि मैंने अपने घर में कोई परेशानी नहीं देखी, कोई गम नहीं देखा, कोई मुसीबत नहीं देखी तो मेरे दिल में ख्याल आया कि मेरे आका की बात सच्ची है।

ऐसा तो नहीं कि मेरे ख़ाविन्द के ईमान में फर्क हो, मेरे ख़ाविंद के आमाल में फ़र्क हो । मेरे खाविन्द से अगर परवरदिगार को मुहब्बत नहीं तो मैं उस बंदे की क्या खिदमत करूंगी। इसलिए जब आपने कहा कि मैं तुम्हारी बात पूरी करूंगा तो मैने कहा कि मैं इस बंदे से तलाक चाहती हूँ जिससे मेरे परवरदिगार मुहब्बत नहीं करते।

फिर जब हम हुजूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की ख़िदमत में इल्म हासिल करने जा रहे थे, यह अल्लाह का रास्ता था, आप गिरे और ख़ून निकला तो मैं फौरन समझ गई कि अल्लाह के रास्ते का गम पहुँचा, मुसीबत पहुँची, तकलीफ पहुँची। यकीनन अल्लाह तआला को आपसे प्यार है और अल्लाह तआला ने अपको अपनी नाराजगी की वजह से खुशियां नहीं दी हुई बल्कि अल्लाह तआला को आपसे मुहब्बत है। अब मुझे तलाक लेने की कोई जरूरत नहीं। इसलिए मैं सारी ज़िंदगी आपकी ख़ादिमा बनकर आपकी खिदमत किया करूंगी! सुब्हानअल्लाह।

जिक्रे दुनिया करके देखा फिक्र उक्बा करके देख
सबको अपना कर देखा रख रब को अपना करके देख

नोट :- एक आखरी बात और अर्ज करता चलूँ की अगर
कोई पोस्ट, क़ौल, वाक़िया, अच्छा लगा करे तो पढ़ने के
बाद उसे अपने दोस्तों रिश्ते दारों को भी भेज दिया कीजिये
ताकि दूसरे लोग भी उस से फायदा हासिल कर सकें।

दुआओं में याद रखना

Leave a Comment

Your email address will not be published.